what is difference between attraction and love in hindi | प्रपोज करने से पहले जान लें, ये प्यार है या सिर्फ लगाव, दोनों के बीच होते हैं ये 3 बड़े अंतर
प्रपोज करने से पहले जान लें, ये प्यार है या सिर्फ लगाव, दोनों के बीच होते हैं ये 3 बड़े अंतर

Highlightsकिसी के प्रति लगाव फील होने का सबसे बड़ा कारण आपका फीजिकली अट्रैक्शन भी हो सकता है।किसी को प्रपोज करने से पहले ये बात अच्छी तरह कंफर्म कर लें कि ये आपका प्यार है या सिर्फ लगाव।

पहली नजर वाला प्यार लाइफ में हर किसी को एक ना एक बार होता जरूर है। किसी को देखकर पूरी लाइफ उसी के साथ बिताने का मन कर जाता है। उसके साथ उठना-बैठना समय बिताना अच्छा लगने लगता है। कभी-कभी तो जल्दबाजी में बात प्रपोज तक पहुंच जाती है मगर क्या आप जानते हैं कि ये सिर्फ और सिर्फ आपका उस व्यक्ति के प्रति लगाव या अट्रैक्शन भी हो सकता है। 

प्यार और लगाव दोनों ही एक-दूसरे से बहुत अलग होते हैं मगर इन्हें समझने में हम अक्सर धोखा खा जाते हैं। किसी के साथ होना और किसी के साथ होकर भी ना होना ये दोनों ही चीजें बहुत अलग हैं। आपको ये समझना होगा कि आप जिसे प्रपोज करने जा रहे हैं आप उनसे प्यार करते हैं या ये सिर्फ शुरुआती अट्रैक्शन हैं। 

कभी-कभी ये लगाव इतना ज्यादा हो जाता है कि लोगों को ये प्यार सा लगने लगता है। आइए आपको बताते हैं प्यार और लगाव में क्या अंतर होता है और आप इसे कैसे समझ सकते हैं-

1. हर वक्त बस बुनते हैं ख्वाब

अट्रैक्शन का सबसे बड़ा सबूत ये  होता है कि आप उस व्यक्ति के बारे में हर वक्त बस सोचते रहें। हर वक्त ख्वाब बुनते रहें। ऐसा होगा या वैसा होगा। ये सिर्फ आपका उनके प्रति ओबसेशन भी हो सकता है। आपका ये विचार इतना ज्यादा बढ़ जाता है कि आप उनके लिए कुछ भी गलत सही करने के लिए तैयार हो जाते हैं। लगाव आपके प्यार का हिस्सा हो सकता है मगर कभी प्यार नहीं हो सकता। 

2. हो सकता है सिर्फ फिजीकल अट्रैक्शन

किसी के प्रति लगाव फील होने का सबसे बड़ा कारण आपका फीजिकली अट्रैक्शन भी हो सकता है। हो सकता है उस व्यक्ति का स्टाइल स्टेटमेंट या बात करने का तरीका या कोई फीजिकली चीज आपको पसंद आ गई हो। ये अट्रैक्शन कुछ दिनों तक रहता तो है मगर ये लॉग लास्टिंग तक नहीं रह सकता। यहां प्वॉइंट ये है कि इस परिस्थिती में आप  उस व्यक्ति के प्रति किसी ना किसी चीज को लेकर लगाव रखते हैं अनकंडिशन प्यार नहीं करते।

3. अगर ये खत्म हुआ तो...

प्यार और अट्रैक्शन में एक और चीज जो होती है वो ये कि अट्रैक्शन अगर खत्म हो जाए तो बहुत कम ही आप उनके बारे में सोचते हैं। आपके लगाव के खत्म होने के बाद या कुछ समय बाद आपको उस व्यक्ति के प्रति कोई फीलिंग्स नहीं होती। जबकि प्यार में ये बिल्कुल नहीं होता। 

तो किसी को प्रपोज करने से पहले ये बात अच्छी तरह कंफर्म कर लें कि ये आपका प्यार है या सिर्फ लगाव। वरना आपके साथ-साथ आपके पार्टनर पर भी इसका असर देखने को मिलेगा। 

Web Title: what is difference between attraction and love in hindi
रिश्ते नाते से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे